राजस्थान विश्वकर्मा श्रमिक कल्याण योजना 2024 : आवेदन प्रक्रिया, लाभ और पात्रता

विश्वकर्मा श्रमिक कल्याण योजना: राजस्थान सरकार आर्थिक विकास को बढ़ावा देने के लिए राज्य में विभिन्न आय समूहों के लिए कल्याणकारी योजनाएं लागू कर रही है।

राजस्थान सरकार द्वारा श्रमिकों के जीवन स्तर में सुधार लाने और उन्हें सामाजिक सुरक्षा प्रदान करने के उद्देश्य से “राजस्थान विश्वकर्मा श्रमिक कल्याण योजना 2024” की शुरुआत की गई है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य के निर्माण कार्यों में संलग्न श्रमिकों को आर्थिक सहायता, स्वास्थ्य सेवाएं, और शिक्षा संबंधी सुविधाएं प्रदान करना है।

इस योजना के माध्यम से, राजस्थान सरकार का लक्ष्य इन श्रेणियों में स्वरोजगार के बेहतर अवसर प्रदान करते हुए श्रमिकों को आर्थिक सहायता प्रदान करना है।

इस पहल से उनकी आय बढ़ने की उम्मीद है। इस लेख में, हम राजस्थान विश्वकर्मा श्रमिक कल्याण योजना 2023 पर विस्तृत जानकारी प्रदान करेंगे, जिसमें लाभ, उद्देश्य, पात्रता मानदंड, आवश्यक दस्तावेज और आवेदन प्रक्रिया शामिल है।

Table of Contents

विश्वकर्मा कामगार कल्याण योजना 2024 ( Vishwakarma Kamgar Kalyan Yojana 2024)

10 फरवरी, 2023 को वित्तीय वर्ष 2023-24 की प्रस्तुति के दौरान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राजस्थान में विश्वकर्मा कामगार कल्याण योजना शुरू करने की घोषणा की। इस योजना का उद्देश्य गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले हाशिए पर रहने वाले और श्रमिक वर्ग के व्यक्तियों को मुख्यधारा के जीवन में एकीकृत करना है।

विश्वकर्मा श्रमिक कल्याण योजना के माध्यम से निम्न आय वर्ग के 1 लाख से अधिक लोगों को लाभ मिलेगा। इस पहल के तहत, सरकार रुपये का अनुदान प्रदान करेगी। कलाकारों, श्रमिकों और महिलाओं के लिए स्वरोजगार स्थापित करने के लिए आवश्यक उपकरण जैसे किट, सिलाई मशीन आदि की खरीद के लिए 5,000 रु.

यह योजना राजस्थान में 30,000 कारीगरों और शिल्पकारों को अपने उत्पादों के विपणन और राज्य और राष्ट्रीय स्तर के मेलों में भाग लेने के लिए सहायता प्रदान करती है।

हस्तशिल्प, केश कला, माटी कला से जुड़े कारीगरों, शिल्पकारों और स्वरोजगार के लिए घुमंतू कलाकारों को प्राथमिकता दी जाएगी। इस योजना से छोटे पैमाने के श्रमिकों की आजीविका में बदलाव आने की उम्मीद है, जिससे उन्हें आत्मनिर्भर बनने का अवसर मिलेगा।

राजस्थान विश्वकर्मा कामगार कल्याण योजना क्या है

2023 में, मुख्यमंत्री अशोक ने राजस्थान के निवासियों और गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले लोगों के लिए अपनी आजीविका में सुधार करने के लिए 10 फरवरी को एक योजना शुरू की।

भारत सरकार ने श्रमिक वर्ग के जीवन स्तर को सुधारने और उन्हें सामाजिक सुरक्षा प्रदान करने के उद्देश्य से “विश्वकर्मा कामगार कल्याण योजना 2024” की शुरुआत की है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य निर्माण और असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों को विभिन्न प्रकार की सहायता प्रदान करना है, जिससे वे अपनी और अपने परिवार की आर्थिक और सामाजिक स्थिति को सुदृढ़ कर सकें।

जो लोग इस योजना के तहत आवेदन करते हैं और पात्र माने जाते हैं, उन्हें सीधे उनके बैंक खातों में लगभग ₹5000 प्रति माह प्राप्त होंगे। लाभार्थी इस राशि का उपयोग सामान खरीदने या छोटे व्यवसाय शुरू करने के लिए कर सकते हैं।

इस योजना को लागू करके कोई भी कारीगर व्यवसाय शुरू कर सकता है।

राजस्थान विश्वकर्मा कामगार कल्याण योजना के बारे में जानकारी ( Information about Rajasthan Vishwakarma Workers Welfare Scheme )

योजना का नाम  Vishwakarma Kamgar Kalyan Yojana
शुरू की गई  मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी के द्वारा
लाभार्थी  राज्य की निम्न आय वर्ग की महिला एवं श्रमिक
उद्देश्य  स्वरोजगार स्थापित करने हेतु आर्थिक सहायता प्रदान करना
प्रदान की जाने वाली सहायता राशि5,000 से 10,000 रुपए  
राज्य  राजस्थान
साल  2023
आवेदन प्रक्रिया  ऑनलाइन/ऑफलाइन
अधिकारिक वेबसाइट  https://labour.rajasthan.gov.in/

राजस्थान विश्वकर्मा कामगार कल्याण योजना का उद्देश्य

राजस्थान सरकार ने “विश्वकर्मा कामगार कल्याण योजना” की शुरुआत की है, जिसका उद्देश्य राज्य के श्रमिकों को आर्थिक, सामाजिक और स्वास्थ्य सुरक्षा प्रदान करना है। इस योजना का लक्ष्य असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले श्रमिकों के जीवन स्तर में सुधार लाना और उन्हें बेहतर अवसर उपलब्ध कराना है। निम्नलिखित बिंदुओं के माध्यम से इस योजना के उद्देश्यों को स्पष्ट किया जा सकता है:

1. आर्थिक सहायता प्रदान करना

  • श्रमिकों और उनके परिवारों को वित्तीय सहायता उपलब्ध कराना, ताकि वे कठिनाइयों का सामना कर सकें और अपने जीवन स्तर को सुधार सकें।
  • बच्चों की शिक्षा, विवाह, और अन्य महत्वपूर्ण घटनाओं के लिए आर्थिक मदद प्रदान करना।

2. स्वास्थ्य सेवाओं का विस्तार

  • श्रमिकों और उनके परिवारों के लिए मुफ्त या रियायती दरों पर चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध कराना।
  • स्वास्थ्य बीमा कवर प्रदान करना, जिससे श्रमिक अपने और अपने परिवार की स्वास्थ्य संबंधी चिंताओं से मुक्त हो सकें।

3. शिक्षा में सहयोग

  • श्रमिकों के बच्चों को शिक्षा के लिए प्रोत्साहित करना और उन्हें छात्रवृत्ति प्रदान करना।
  • शिक्षा सामग्री और अन्य शैक्षिक सुविधाएं उपलब्ध कराना, ताकि श्रमिकों के बच्चे उच्च शिक्षा प्राप्त कर सकें।

4. कौशल विकास

  • श्रमिकों के लिए विभिन्न कौशल विकास कार्यक्रमों का आयोजन करना, जिससे वे अपने कौशल में सुधार कर सकें और बेहतर रोजगार के अवसर प्राप्त कर सकें।
  • प्रशिक्षित श्रमिकों की संख्या बढ़ाना और उन्हें आत्मनिर्भर बनाना।

5. सामाजिक सुरक्षा

  • श्रमिकों को सामाजिक सुरक्षा योजनाओं के तहत लाभान्वित करना, जिससे वे भविष्य की अनिश्चितताओं से सुरक्षित रह सकें।
  • पेंशन योजनाओं और बीमा योजनाओं के माध्यम से श्रमिकों को सामाजिक सुरक्षा प्रदान करना।

6. आवास सुविधा

  • श्रमिकों के लिए सस्ते और सुलभ आवास की व्यवस्था करना, ताकि वे एक स्थायी और सुरक्षित वातावरण में रह सकें।

7. महिलाओं और बच्चों का कल्याण

  • महिला श्रमिकों और उनके बच्चों के विशेष कल्याण के लिए योजनाओं का प्रावधान, जिससे वे समाज में समान अवसर प्राप्त कर सकें।
  • मातृत्व लाभ और बच्चों के लिए पोषण योजनाएं प्रदान करना।

राजस्थान विश्वकर्मा कामगार कल्याण योजना का उद्देश्य श्रमिक वर्ग को सामाजिक, आर्थिक, और शैक्षिक रूप से सशक्त बनाना है, ताकि वे समाज में सम्मान और सुरक्षा के साथ जी सकें। इस योजना के माध्यम से, राजस्थान सरकार श्रमिकों की कठिनाइयों को कम करने और उनके जीवन में स्थिरता लाने के प्रयास कर रही है।

विश्वकर्मा श्रमिक कल्याण योजना लाभार्थी सूची

  • हलवाई
  • माटी कला
  • टोकरी बनाने वाले
  • हस्तशिल्प
  • कारीगर
  • केश कला
  • लोहार
  • सुनार
  • कुमार
  • महिलाएं तथा वंचित वर्ग
  • बढ़ई
  • दर्जी और मोची

राजस्थान विश्वकर्मा श्रमिक कल्याण योजना 2024 की विशेषताएं

राजस्थान सरकार द्वारा शुरू की गई “विश्वकर्मा श्रमिक कल्याण योजना 2024” का उद्देश्य श्रमिकों के जीवन स्तर में सुधार और उन्हें सामाजिक सुरक्षा प्रदान करना है। इस योजना की मुख्य विशेषताएं निम्नलिखित हैं:

1. आर्थिक सहायता

  • श्रमिकों और उनके परिवारों को वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी।
  • शिक्षा, विवाह, और अन्य महत्वपूर्ण घटनाओं के लिए आर्थिक मदद।
  • बीमारी और आकस्मिक परिस्थितियों में वित्तीय सहायता का प्रावधान।

2. स्वास्थ्य सेवाएं

  • श्रमिकों और उनके परिवारों के लिए मुफ्त या रियायती दरों पर चिकित्सा सुविधाएं।
  • स्वास्थ्य बीमा कवर प्रदान करना।
  • नियमित स्वास्थ्य जांच और चिकित्सा शिविरों का आयोजन।

3. शिक्षा सुविधा

  • श्रमिकों के बच्चों को शिक्षा के लिए छात्रवृत्ति प्रदान करना।
  • शिक्षा सामग्री और अन्य शैक्षिक सुविधाएं उपलब्ध कराना।
  • उच्च शिक्षा के लिए विशेष वित्तीय सहायता।

4. कौशल विकास कार्यक्रम

  • श्रमिकों के लिए विभिन्न कौशल विकास कार्यक्रमों का आयोजन।
  • प्रशिक्षण कार्यक्रमों के माध्यम से श्रमिकों के कौशल को सुधारना।
  • प्रमाणपत्र कोर्स और व्यावसायिक प्रशिक्षण।

5. सामाजिक सुरक्षा

  • श्रमिकों को सामाजिक सुरक्षा योजनाओं के तहत लाभ प्रदान करना।
  • पेंशन योजनाओं का प्रावधान।
  • जीवन बीमा और दुर्घटना बीमा कवरेज।

6. आवास सुविधा

  • श्रमिकों के लिए सस्ते और सुलभ आवास की व्यवस्था।
  • श्रमिकों के लिए आवासीय कॉलोनियों का निर्माण।
  • रियायती दरों पर आवास ऋण की सुविधा।

7. महिला श्रमिकों का कल्याण

  • महिला श्रमिकों के लिए विशेष कल्याण योजनाएं।
  • मातृत्व लाभ और बच्चों के लिए पोषण योजनाएं।
  • महिला श्रमिकों के लिए सुरक्षित कार्यस्थल का प्रावधान।

8. परिवार कल्याण

  • श्रमिकों के बच्चों के लिए आंगनवाड़ी और डे-केयर सुविधाएं।
  • श्रमिक परिवारों के लिए सामुदायिक विकास कार्यक्रम।
  • बाल विवाह और बाल श्रम रोकथाम के लिए विशेष प्रयास।

9. पंजीकरण और निगरानी

  • श्रमिकों के पंजीकरण के लिए सरल और सुलभ प्रक्रिया।
  • श्रमिकों के अधिकारों और कल्याण की निगरानी के लिए एक केंद्रीय प्रणाली।
  • योजना के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए निगरानी और मूल्यांकन प्रणाली।

10. सामुदायिक विकास

  • श्रमिकों के सामाजिक और सांस्कृतिक विकास के लिए कार्यक्रम।
  • श्रमिक समुदायों के लिए मनोरंजन और खेलकूद सुविधाएं।
  • सामुदायिक भवन और सभागार का निर्माण।

राजस्थान विश्वकर्मा श्रमिक कल्याण योजना 2024 एक व्यापक और समग्र योजना है, जिसका उद्देश्य श्रमिकों के जीवन को बेहतर बनाना और उन्हें सम्मानित और सुरक्षित जीवन प्रदान करना है। इस योजना के माध्यम से, राजस्थान सरकार श्रमिकों को उनके अधिकार और लाभ प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है।

विश्वकर्मा कर्मकार कल्याण योजना के लाभ

विश्वकर्मा श्रमिक कल्याण योजना के माध्यम से राज्य के श्रमिकों और कारीगरों को रुपये की वित्तीय सहायता से लाभ होगा। 5,000 प्रत्येक. इसके अतिरिक्त, श्रमिकों को रुपये का आर्थिक अनुदान मिलेगा। अपने उत्पादों को प्रदर्शित करने और राष्ट्रीय और राज्य स्तर पर मेलों में भाग लेने के लिए 10,000 रु.

इस योजना से 100,000 से अधिक युवाओं को लाभ होने की उम्मीद है, जिससे उन्हें स्वरोजगार के अवसरों में भागीदारी की सुविधा मिलेगी। राजस्थान विश्वकर्मा श्रमिक कल्याण योजना 30,000 से अधिक कारीगरों और श्रमिकों को अपना स्वयं का स्वरोजगार उद्यम शुरू करने में भी सहायता प्रदान करेगी।

  1. आर्थिक सहायता: शिक्षा, विवाह, और आकस्मिक परिस्थितियों में वित्तीय सहायता।
  2. स्वास्थ्य सेवाएं: मुफ्त चिकित्सा सुविधाएं और स्वास्थ्य बीमा कवर।
  3. शिक्षा सुविधा: श्रमिकों के बच्चों के लिए छात्रवृत्ति और शिक्षा सामग्री।
  4. कौशल विकास: प्रशिक्षण कार्यक्रम और प्रमाणपत्र कोर्स।
  5. सामाजिक सुरक्षा: पेंशन योजनाएं और बीमा कवरेज।
  6. आवास सुविधा: सस्ते और सुलभ आवास और रियायती दरों पर आवास ऋण।
  7. महिला कल्याण: मातृत्व लाभ और पोषण योजनाएं।
  8. परिवार कल्याण: आंगनवाड़ी और डे-केयर सुविधाएं।
  9. सामुदायिक विकास: सामाजिक और सांस्कृतिक विकास कार्यक्रम।

यह योजना श्रमिकों के जीवन स्तर में सुधार और उन्हें सामाजिक सुरक्षा प्रदान करने के उद्देश्य से बनाई गई है, जिससे वे अधिक सुरक्षित और सम्मानित जीवन जी सकें।

राजस्थान विश्वकर्मा श्रमिक कल्याण योजना के लिए पात्रता

आवेदक राजस्थान का निवासी और श्रमिक या कारीगर होना चाहिए। पात्र होने के लिए आवेदक की आयु कम से कम 18 वर्ष होनी चाहिए। विश्वकर्मा श्रमिक कल्याण योजना का लाभ उठाने के लिए लाभार्थी को निम्न आय वर्ग से संबंधित होना चाहिए।

राजस्थान विश्वकर्मा श्रमिक कल्याण योजना आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • बैंक खाता विवरण
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • आय प्रमाण पत्र
  • जाति प्रमाण पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • राशन कार्ड
  • मोबाइल नंबर

राजस्थान विश्वकर्मा श्रमिक कल्याण योजना के तहत आवेदन कैसे करें?

राजस्थान विश्वकर्मा श्रमिक कल्याण योजना 2024 के तहत आवेदन करने की प्रक्रिया सरल और सुलभ है। नीचे दी गई चरणबद्ध जानकारी के माध्यम से आप आवेदन कर सकते हैं:

1. आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं

  • सबसे पहले, योजना की आधिकारिक वेबसाइट https://labour.rajasthan.gov.in/ पर जाएं। यह वेबसाइट राजस्थान सरकार के श्रम विभाग की हो सकती है।

2. पंजीकरण करें

  • यदि आप पहले से पंजीकृत नहीं हैं, तो “पंजीकरण” (Register) विकल्प पर क्लिक करें।
  • आवश्यक जानकारी भरें जैसे कि नाम, पता, मोबाइल नंबर, ईमेल आदि।
  • एक यूजरनेम और पासवर्ड बनाएं।

3. लॉगिन करें

  • पंजीकरण के बाद, अपने यूजरनेम और पासवर्ड का उपयोग करके वेबसाइट पर लॉगिन करें।

4. आवेदन फॉर्म भरें

  • “आवेदन फॉर्म” (Application Form) लिंक पर क्लिक करें।
  • आवेदन फॉर्म में मांगी गई जानकारी भरें, जैसे कि व्यक्तिगत विवरण, शैक्षिक योग्यता, रोजगार विवरण आदि।

5. दस्तावेज़ अपलोड करें

  • आवश्यक दस्तावेज़ जैसे कि आधार कार्ड, निवास प्रमाण पत्र, बैंक खाता विवरण, और रोजगार प्रमाण पत्र अपलोड करें।
  • दस्तावेजों का स्कैन कॉपी साफ और स्पष्ट होनी चाहिए।

6. फॉर्म जमा करें

  • सभी जानकारी भरने और दस्तावेज़ अपलोड करने के बाद, “सबमिट” (Submit) बटन पर क्लिक करें।
  • फॉर्म जमा करने के बाद, आपको एक पावती रसीद (Acknowledgment Receipt) मिलेगी जिसे आप भविष्य के संदर्भ के लिए सुरक्षित रख सकते हैं।

7. आवेदन की स्थिति जांचें

  • आप अपने आवेदन की स्थिति को वेबसाइट पर “आवेदन स्थिति” (Application Status) विकल्प पर जाकर जांच सकते हैं।
  • इसके लिए आपका पंजीकरण नंबर या लॉगिन जानकारी की आवश्यकता हो सकती है।

8. सहायता और संपर्क

  • यदि आपको आवेदन प्रक्रिया के दौरान कोई समस्या होती है, तो आप हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क कर सकते हैं या ईमेल के माध्यम से सहायता प्राप्त कर सकते हैं। यह जानकारी वेबसाइट पर उपलब्ध होगी।

9. ऑफलाइन आवेदन (यदि उपलब्ध हो)

  • कुछ मामलों में, ऑफलाइन आवेदन की सुविधा भी उपलब्ध हो सकती है।
  • इसके लिए आपको नजदीकी श्रमिक सेवा केंद्र पर जाकर आवेदन फॉर्म प्राप्त करना होगा, इसे भरकर आवश्यक दस्तावेज़ संलग्न करके जमा करना होगा।

महत्वपूर्ण दस्तावेज़

आवेदन के लिए निम्नलिखित दस्तावेज़ों की आवश्यकता हो सकती है:

  1. आधार कार्ड
  2. निवास प्रमाण पत्र
  3. बैंक खाता विवरण
  4. रोजगार प्रमाण पत्र
  5. पासपोर्ट साइज फोटो

राजस्थान विश्वकर्मा श्रमिक कल्याण योजना 2024 के तहत आवेदन करने की यह प्रक्रिया श्रमिकों के लिए सरल और सुलभ है, जिससे वे आसानी से योजना के लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

FAQ: राजस्थान विश्वकर्मा श्रमिक कल्याण योजना 2023: आवेदन प्रक्रिया, लाभ और पात्रता

Q: राजस्थान विश्वकर्मा योजना क्या है?

राजस्थान में विश्वकर्मा कामगार कल्याण योजना के लाभ
इस योजना के माध्यम से कामगारों को ₹5000 की आर्थिक की सहायता दी जाएगी। इस योजना का लाभ राज्य में एक लाख से अधिक युवक उठा सकते हैं। इसके अलावा कामगारों को मेले में या सार्वजनिक स्थान पर अपने द्वारा बनाए गए सामान की प्रदर्शनी के लिए ₹10000 की आर्थिक सहायता दी जाएगी।

Q: विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना में क्या क्या मिलता है?

इस योजना में 6 दिन की फ्री ट्रेनिंग के साथ ही 10 हजार रूपए से लेकर 10 लाख रूपए की आर्थिक सहायता भी प्रदान की जाएगी। इस योजना के तहत प्रदान किए जाने वाले सभी प्रकार के प्रशिक्षण का पूरा खर्च राज्य सरकार द्वारा वहन किया जाएगा। विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना के तहत प्रति वर्ष 15000 से अधिक लोगों को रोजगार मिलेगा।

Q: विश्वकर्मा योजना में कितना पैसा मिलता है?

प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना (जिसे पीएम विश्वकर्मा कौशल सम्मान के रूप में भी जाना जाता है) के तहत 4 साल की अवधि के लिए 3 लाख रु. तक का कोलैटरल-फ्री लोन प्रदान किया जाता है, जिसकी ब्याज दरें 5% प्रति वर्ष हैं

Q: विश्वकर्मा योजना के लिए कौन आवेदन कर सकता है?

 कोई भी 18 वर्ष या उससे अधिक उम्र का कारीगर या शिल्पकार जो हाथों और औजारों से काम करता है और स्व-रोज़गार के आधार पर असंगठित क्षेत्र में परिवार-आधारित पारंपरिक व्यापार में लगा हुआ है, वह विश्वकर्मा योजना के तहत सहायता के लिए पात्र है।

Leave a Comment